क्या आप जानते हैं की जन्मकुंडली में कम से कम एक ग्रह तो ऐसा अवश्य होता है जो बाकी के ग्रहों का नेतृत्व करते हुए आपके जीवन को संभालता है यही एक ग्रह पूरे जीवन में आपके और आपके आसपास के वातावरण को लोगों को प्रभावित करता है यही एक प्रधान ग्रह आपकी जन्मकुंडली में हर जगह अपना प्रभाव दिखाता है इस प्रधान ग्रह की पहचान करना कोई मुश्किल काम नहीं तो यदि आपको पता चल जाए कि आपके बच्चे का कौन सा ग्रह प्रधान है तो इसकी पहचान करके आप अपने बच्चे को उसके अनुरूप शिक्षा देकर बच्चे के कैरियर को और जीवन को सार्थक बना सकते हैं

आइए जानते हैं नौ ग्रहों में से कौन सा ग्रह आपके बच्चे का प्रधान ग्रह है

प्रधान ग्रह सूर्य

यदि सूर्य आपके बच्चे का प्रधान ग्रह है तो आपका बच्चा छोटी उम्र में बड़ी बात बोलने लगेगा कम बोलेगा तथा ज्यादा सुनेगा सबके साथ मैत्री संबंध स्थापित करके रखेगा ऐसे में उसे एडमिनिस्ट्रेशन की शिक्षा दीजिए सरकारी नौकरी के लिए तैयारी करवाइए अपने बच्चे को तकनीकी शिक्षा देने से बचें।

प्रधान ग्रह चंद्रमा

यदि चंद्रमा आपके बच्चे का प्रधान करा है तो ललित कलाओं में अधिक रुचि लेगा अकेले रहने से परहेज करेगा छोटी बात पर अपना तुरंत रिएक्शन देगा किसी भी बात को इग्नोर नहीं करेगा राई का पहाड़ बनाने में एक्सपर्ट होगा इन गुणों को देखते हुए उसे कला की शिक्षा दीजिए आर्ट्स में जितना अच्छा आपका बच्चा कर सकता है उतना कोई और नहीं कर पाएगा।

प्रधान ग्रह मंगल

यदि मंगल आपके बच्चे का प्रधान ग्रह है तो अपने बच्चे को हर काम में जल्दबाजी करते आप देखेंगे किसी भी काम को भागकर करने में आपके बच्चे को आनंद आएगा हमेशा बिजी रहेगा कोई न…

प्रधान ग्रह गुरू

मैनेजमेंट अर्थात एमबीए टीचर या प्रोफेसर वकील या फाइनेंस एक्सपर्ट की शिक्षा आप अपने बच्चे को दिलवा सकते हैं

प्रधान ग्रह शुक्र

यदि आपके बच्चे का शुक्र ग्रह प्रधान है तो बच्चा अलग से अधिक करेगा मनोरंजन के कार्यों में अर्थात गाने बजाने डांस ड्राइंग या किसी और मनोरंजन के मध्य में अधिक समय बताएगा स्टेज पर अच्छा परफॉर्म करने की आदत शुरू से होगी स्त्री वर्ग में अत्यंत प्रिय होगा खाने-पीने में रुचि कम होगी ऐसे बच्चे को उसके इंटरेस्ट के मुताबिक शिक्षा देने का प्रयास करें अर्थात फिल्म एक्टिंग या संगीत नृत्य आदि की अतिरिक्त शिक्षा का प्रबंध करें कला के क्षेत्र में उसे शिक्षा ग्रहण करने के लिए प्रेरित करें

प्रधान ग्रह शनि

शनि प्रधान ग्रह हो तो आपका बच्चा तकनीकी कार्यों में अधिक रुचि लेगा किसी मशीन को छेड़ना या खराब कर देना और उसे पुनः ठीक करने की कोशिश करना खिलौनों को खोल कर देखना विज्ञान के विषय में अधिक रुचि लेना यह सब लक्षण दिखाई दें तो बच्चे को तकनीकी शिक्षा के लिए प्रेरित करें।

प्रधान ग्रह राहु

यदि राहु ग्रह आपके बच्चे का प्रधान ग्रह है तो गूड विद्या में आपका बच्चा अधिक रुचि लेगा रहस्य रोमांच से संबंधित विषय उसे पसंद होंगे तथा अकेला रहना अधिक पसंद करेगा धार्मिक क्रियाकलाप में लगा रहेगा यदि ऐसे लक्षण अपने बच्चे में दिखाई दें तो उन्हें नजरअंदाज ना करें बल्कि अपने कल्चर संस्कृति से संबंधित या इतिहास से संबंधित विषय के लिए प्रेरित करें पुरातत्व इतिहास पॉलिटिकल साइंस ज्योतिष शास्त्र संस्कृत आदि सब्जेक्ट उसके प्रिय विषय होंगे और इन्हीं में से एक मैं आपका बच्चा सफलता प्राप्त करेगा

प्रधान ग्रह केतु

यदि आपके बच्चे का केतु ग्रह प्रधान हो तो यह तय करना बहुत मुश्किल हो जाता है कि बच्चा बड़ा होकर क्या कार्य करेगा परंतु गुड मनोविज्ञान साइकैटरिस्ट मेडिकल पुलिस रिपोर्टिंग आदि में आपका बच्चा अच्छा परफॉर्मेंस दिखा सकता है उसके लक्षण यह होंगे कि आप अपने बच्चे की सही रुचि क्या है इसको नहीं समझ पाएंगे उसके क्रियाकलाप से पता नहीं चलेगा कि उसका स्वभाव कैसा है बल्कि रहस्यमय स्वभाव के कारण बच्चे को समझना अत्यंत कठिन होगा