मैं इसे गरीब या अमीर की बजाय धनी और निर्धन कहूँगा। कैसे देखें किसी की आर्थिक स्थिति जन्म कुंडली से आइये जानते हैं।

गरीब कौन है अमीर कौन

सबसे पहले हमें यह पता होना चाहिए कि धनी या निर्धन की परिभाषा क्या है क्योंकि मेरे विचार में गरीब वह नहीं जिसके पास पैसे नहीं है बल्कि गरीब वह है जो पैसे होने के बावजूद खर्च नहीं कर सकता जिसके पैसे उसके किसी काम नहीं आ सकते।

जन्म कुंडली मे धन से जुडे स्थान

अब जन्म कुंडली में दूसरा घर जन्मकुंडली का धन स्थान माना जाता है वह आपकी आर्थिक स्थिति का स्थान है। पूरे जीवन में आपकी आर्थिक स्थिति कैसे रहने वाली है। इसके बाद आता है 11वाँ घर यह कर्म स्थान के बाद का घर है इसलिए आपके कर्म करने पर आपके उद्योग करने पर आपको जो रिटर्न मिलता है जो सैलरी मिलती है जो इनकम आपकी होती है उसका स्थान है 11वां घर।

कुंडली का 12वाँ घर खर्च का

फिर इसके बाद आता है बारहवाँ स्थान यह खर्चों का है आपकी जो कमाई है जो इनकम है उसे आप कैसे खर्च करते हैं।

बजाय इसके कि एक व्यक्ति के पास कितने पैसे हैं हमें यह देखना चाहिए कि एक व्यक्ति खर्च कितना करता है उसी के आधार पर हमें समझना चाहिए गरीबी और अमीरी को।

एक अमीर व्यक्ति

मैं एक व्यक्ति को जानता हूं शाम लाल नाम था उसका। वह बहुत अमीर है कैसे पहले एक लड़की की शादी की उसे पूरा दान दहेज दिया दूसरी की शादी की उस पर खर्च हुआ फिर तीसरी बेटी की शादी करने के पश्चात उसने अपने बेटे की शादी की यानी उसने अपने जीवन की सारी जिम्मेदारियों को निभाया भले ही मृत्यु के समय उसके पास एक टूटे-फूटे मकान के अलावा कुछ नहीं था परंतु फिर भी मेरी दृष्टि में वह एक अमीर व्यक्ति था।

एक गरीब व्यक्ति

मैं एक और व्यक्ति को जानता हूं जो क्लास वन ऑफिसर है उसने अपनी पत्नी से 50 वर्ष की उम्र के पश्चात तलाक लिया हालांकि अलग वह पहले ही हो चुके थे अब उसके हाथ में कुछ जिम्मेदारी तो है नहीं क्योंकि संतान हुई नहीं पैसा अनंत है उनकी अपनी जमीन जायदाद काफी है परंतु वह एक गरीब व्यक्ति है क्योंकि कंजूस है।

जीवन की जो आधारभूत आवश्यकताएं होती है उन पर भी बहुत कम खर्च करता है पूछने पर बताता है कि उसने जीवन में बहुत गरीबी देखी है इसलिए वह पैसे को बर्बाद नहीं करना चाहता। ये होता है गरीब किसी वहम के कारण या परिस्थितियों की वजह से जिसका पैसा कोई काम न आए।

यदि 11वाँ घर बलवान हो तो

चूंकि 11वां घर इन्कम का है यदि बलवान हो तो क्या होगा?

कुंडली का 11वां घर बहुत बलवान है तो इसका अर्थ यह नहीं कि कोई व्यक्ति अमीर हो जाएगा और अमीर ही रहेगा हमें देखना यह है कि कुंडली का बारवा घर जो की खर्चों का है उसके अनुपात में कैसा है।

कंजूस होने का योग

11वां यानि इन्कम बलवान और 12वां यानि खर्चे वाला स्थान निर्बल हो तो व्यक्ति उच्च कोटि का कंजूस होता है कंजूस से बड़ा गरीब कोई नहीं होता।

लेकिन इसके विपरीत यदि कुंडली का 11वां घर निर्बल हो और बारहवाँ घर बलवान हो तो व्यक्ति अपने जीवन में बहुत सा पैसा खर्च करता है उसकी सारी जरूरतें पूरी होती हैं कैसे? दूसरों की कमाई से।

Categories: Horoscope

0 Comments

Leave a Reply