Home » Horoscope » Hindi » धनु राशी में शनी के राशी परिवर्तन का आप पर प्रभाव और उपाय
धनु राशी में शनी के राशी परिवर्तन का आप पर प्रभाव और उपाय

धनु राशी में शनी के राशी परिवर्तन का आप पर प्रभाव और उपाय

26 अक्टूबर के पश्चात शनि धनु राशि में होगा और अड़ाई वर्षों के लिए धनु राशि में ही रहेगा। जब भी शनि राशि परिवर्तन करता है समय करवट लेता है। जिंदगी बदलती है दुनिया बदलती है और दुनिया गति पकड़ती है हम इस राशि परिवर्तन को एक ख़ास नजर से देख रहे हैं। हम चाहते है दुनिया पर शनि के राशि परिवर्तन का शुभ प्रभाव हो परंतु उसके लिए कुछ बातें ध्यान में रखनी होंगी।

न्यायाधीश शनि

जिस प्रकार एक जज सुबह के समय अपनी कुर्सी पर विराजमान हो कर फैसला करना शुरु करते हैं सुनवाई करते हैं और सजा देते हैं ।उसी प्रकार शनि जब राशि परिवर्तन करके एक राशि को छोड़ते हैंऔर दूसरी राशि में जाते हैं तो यह ऐसा ही है जैसे एक केस की फाइल निपटा कर दूसरे केस की फाइल पर ध्यान देना।

यह लोग हो जाएं सावधान

26 अक्टूबर के पश्चात उन लोगों के लिए मुश्किलें बढ़ जाएंगी जो लोग आलस्य में थे और समय को धक्का दे दे रहे थे। आलस्य के कारण पुरुषार्थ नहीं कर रहे थे। इसके अतिरिक्त वे लोग भी सावधान हो जाएं जिन्होंने साल 2 साल पहले किसी के साथ विश्वासघात किया हो ।किसी को धोखा दिया हो वादा करके मुकर गए हो पैसा लेकर मुकर गए हो वह लोग जिन्होंने दूसरों पर जुल्म किए हो।
प्रेम में धोखा देने वाले किसी का दिल तोड़ने वाले तथा अपने फायदे के लिए दूसरे का नुकसान करने वाले लोग सावधान हो जाएं क्योंकि अब समय ने करवट ली है।

उपाय के लिए बचे हैं केवल कुछ दिन

जब भी शनि राशि परिवर्तन करते हैं और किसी की राशि पर आते हैं। किसी के लिए अशुभ होते हैं तो व्यक्ति को हर बात समझ में आती है। अपनी गलतियां दिखाई देने लगती हैं अपने कर्मों पर पश्चाताप होता है तो पानी लिए पीपल के पेड़ पर दिया जलाकर शनि को प्रसन्न करने की चेष्टा करते हैं। परंतु एक बार राशि परिवर्तन हो जाने के पश्चात शनि सजा सुना देते हैं और व्यक्ति उपाय पर उपाय करता रह जाता है ऐसा नहीं है कि शनि के उपाय करने से लाभ नहीं होता परंतु शनि के उपाय समय पर करने पड़ते हैं समय निकल जाने के पश्चात नहीं।

शनी के प्रकोप से बचने के उपाय

यदि आपने किसी को धोखा दिया है यदि आपने किसी का दिल दुखाया है। यदि आपने कुछ ऐसा किया है जो आपको नहीं करना चाहिए था या जिसका पछतावा आपको है ।तो शनि के इस राशि परिवर्तन से पहले या शनि के राशि परिवर्तन के बाद एक माह के भीतर आपके पास भूल सुधार का मौका है।
शनि कहते है कि आप मुझे प्रसन्न मत करो परंतु बुरे कार्य मत करो शनि  कहते हैं कि आप मुझे तेल मत चढ़ाएं परंतु जिन्हें आप ने जख्म दिए हैं ।उन के जख्मों पर मरहम लगा सकते हैं। सनी कहते हैं कि आपने जिन का नुक्सान किया है उन्हें उचित मुआवजा दे दे और शनि कहते हैं कि यदि आपने किसी का दिल तोड़ा है। तो उनसे एक बार क्षमा मांग कर देखें यदि उन्होंने आपको क्षमा कर दिया तो आपको मेरे लिए कोई उपाय करने की आवश्यकता नहीं है। और यदि आप यह नहीं कर सकते तो भी उपाय करने से कोई लाभ नहीं होगा।

About creativehelper

Leave a Reply

WpCoderX