जन्म कुंडली के 12 घरों में से तीसरा घर आपके हाथ, पैर और आपके रिसोर्सेज का है आपके एफर्ट्स का है और एफर्ट से मिलने वाली सफलता या असफलता का हैI

यदि आप अपनी कुंडली के तीसरे घर को सक्रिय कर ले तो आप सफलता प्राप्त कर सकते हैं आपके रिसोर्सेज बढ़ सकते हैं Iइसके अतिरिक्त आपकी पहुंच वहां तक हो सकती है जहां तक आपके विरोधी अनुमान भी नहीं लगा सकतेI

कुंडली के तीसरे घर को सक्रिय कैसे बनाएं

क्योंकि रिसोर्सेज और पहुंच कुंडली के इसी घर से देखी जाती है इसे हम इस तरह भी समझ सकते हैं कि जैसे कानून के हाथ बड़े लंबे होते हैं क्योंकि कानून के रिसोर्सेज विश्वसनीय हैं, विश्वव्यापी हैI

प्रकाश एक मामूली कारीगर है परंतु शहर के बदनाम लोगों से लेकर पुलिस के बड़े अफसरों तक उसे जानते हैं I इतना ही नहीं मंत्रियों के साथ उसे फोटो खिंचवाते आम देखा जाता है मेरा कहने का तात्पर्य बिल्कुल साफ है आवश्यक नहीं कि आप एकअमीर व्यक्ति हैं परंतु यदि आपकी कुंडली का तीसरा घर एक्टिव है, सक्रिय है तो आपकी जान पहचान आपकी पहुंच काफी ऊंची हो सकती हैI

तीसरे घर में यदि सूर्य हो तो व्यक्ति की जान पहचान का दायरा सरकारी अफसरों तथा बड़े बिजनेसमैन तक होता हैI चंद्रमा हो तो जातक कि जान पहचान स्त्रियों की वजह से अधिक होती है मसलन पत्नी या माता की वजह से I

बुध यदि तीसरे घर में हो तो व्यक्ति काफी मशहूर होता है और उसकी दोस्ती में हर बड़े और छोटे व्यक्ति शामिल होते हैं अर्थात व्यक्ति के मित्र, रिश्तेदारों और दोस्तों का संपर्क क्षेत्र काफी विस्तृत होता है I यदि तीसरे घर में बृहस्पति हो तो जातक का संपर्क क्षेत्र सीमित होता है परंतु उसके मित्र ,संबंधी, रिश्तेदार या जान पहचान के लोग गजेटेड ऑफिसर, वकील या यूनियन के लीडर हो सकते हैंI

यदि तीसरे घर में शुक्र हो तो व्यक्ति की जान पहचान का दायरा पुरुषों से अधिक स्त्रियों में होता है अर्थात प्रभावशाली स्त्रियों के साथ जातक के संपर्क सीधे तौर पर रहते हैं मसलन महिला अफसर, महिला सांसद या फिर महिला संस्थाएंI

यदि शनि तीसरे घर का हो तो जातक का संपर्क सूत्र निचले दर्जे के सरकारी लोगों के साथ अधिक होता हैI

इसके अतिरिक्त लेबर का कार्य करने वाले लोगों का प्रतिनिधित्व जातक कर सकता है ऐसे व्यक्ति की जान पहचान अधिक नहीं होती परंतु जातक के साथ ऐसे लोगों की मैत्री होती है जो अधिक दोस्त बनाना पसंद नहीं करते मिलना जुलना पसंद नहीं करते मसलन सन्यासी साधु या एकांत में रहने वाले लोगI

तीसरे घर में राहु हो तो जातक की जान पहचान का दायरा ऐसे लोगों से अधिक होता है जो गुप्त रूप से कार्य करते हैं, आपराधिक क्षेत्र में जान पहचान रहती है मीडिया या फिर फिल्म इंडस्ट्री के लोगों से सीधे संपर्क होते हैंI

तीसरे घर का केतु हो तो जातक की जान पहचान का दायरा अंडरवर्ल्ड से हो सकता हैI इसके अतिरिक्त दूरदराज के क्षेत्रों में कार्यरत अधिकारियों तक जातक की पहुंच रहती है या फिर जातक ऐसे लोगों से सेवाएं लेता रहता है जो गुप्त शक्तियों के सीधे संपर्क में रहते हैंI

उपरोक्त ग्रहों की तीसरे घर में स्थिति यह सुनिश्चित नहीं करती कि ऐसा अवश्य होगा बल्कि उपरोक्त ग्रहों का बलवान होना आवश्यक है यदि ग्रह वहीं होंगे तो जातक अपने संपर्क क्षेत्र से लाभ नहीं उठा पाएगाI

केवल जान पहचान ही नहीं बल्कि सफलता या असफलता के लिए तीसरा घर जिम्मेदार है और यदि तीसरा घर एक्टिव है तो ना केवल आपकी जान पहचान बढ़ सकती है बल्कि आप अपनी जान पहचान के लोगों से फायदा उठा सकते हैं I

अब आइए समझते हैं तीसरे घर को एक्टिव कैसे करें?

यदि आप अपनी कुंडली के तीसरे घर को एक्टिव करना चाहते हैं तो आलस्य छोड़कर अपने अधूरे कार्यो को पूरा कीजिएI विशेषकर ऐसे कार्य जिनसे आपको ना सही दूसरों को फायदा हो रहा हो I अपने किए हुए वादों को निभाए I मित्रों- रिश्तेदारों को निराश मत कीजिएI उनकी भरपूर मदद कीजिएI

चेष्टा कीजिए, Effort कीजिए अपने कार्यों में सफलता प्राप्त करने के लिए Iइसकी समझ उस मकड़ी से लीजिए जो बार-बार ऊपर चढ़ने का प्रयास करती है और बार बार गिरती रहती है परंतु अंततः वह ऊपर चढ़ने में सफल हो जाती है यह हमने बचपन में कहानियों में सुना था परंतु इसे जीवन में उतार लेने की आवश्यकता हैI जहां पर आपको असफल होने की 100% उम्मीद भी है वहां भी आपको प्रयास करना हैI आपके अकाउंट में जितनी अधिक असफलता होगी उतना ही तीसरा घर एक्टिव होना शुरू हो जाएगा क्योंकि असफलताओं के पश्चात सफलता वैसे ही मिलती है जैसे रात के पश्चात दिन होता है यह एक ही सिक्के के दो पहलू हैI

किसी जरूरतमंद को रिसोर्सेज प्रदान कीजिए I दान करें ऐसी चीजों का जो कि दूसरों के लिए रिसोर्स बन जाए जैसे मजदूर के लिए औजार का दान कीजिए ,मंगलवार के दिन किसी गरीब बच्चे को जो दूर तक स्कूल पैदल जाता है साइकिल का दान कीजिए, गरीब बच्चों की एडमिशन का खर्च उठाइएI